Nature Nature

*भारतीय वायु सेना में कार्यरत रहे शहीद स्वर्गीय राजेश कुमार के परिजनों से मिल भावुक हुए सीएम अरविंद केजरीवाल, परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा*

0 5
इस न्यूज़ को सुनने के लिए क्लिक करे
03 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश में ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी के दौरान एक विमान दुर्घटना में राजेश कुमार शहीद हो गए थे*
*स्वर्गीय राजेश कुमार जी देश की सेवा करते हुए शहीद हो गए थे, आज उनके परिवार से मिला और 1 करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा, उम्मीद है कि इससे परिवार को मदद मिलेगी, भविष्य में भी स्व. राजेश जी के परिवार का ख़्याल रखेंगे – अरविंद केजरीवाल*
दिल्ली सरकार ने उनकी एक बहन को पहले ही सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है और दूसरी बहन को भी उसमें नौकरी देंगे- अरविंद केजरीवाल*
नई दिल्ली, 08 अक्टूबर, 2021
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली के रेस कोर्स क्लब में रह रहे शहीद स्वर्गीय राजेश कुमार के परिवार से मिलकर भावुक हो गए। स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में तैनात थे और 03 जून 2019 को अरूणाचल प्रदेश में ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी के दौरान एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। इस दौरान शोक संतप्त परिवार के सदस्य अपने बीच मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पाकर अपने आंसू रोक नहीं सके। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे और देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा। स्वर्गीय राजेश कुमार के जान की कीमत तो हम नहीं लगा सकते हैं, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इससे उनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी। हमने स्वर्गीय राजेश कुमार की एक बहन को पहले ही सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है, दूसरी बहन को भी उसमें नौकरी देंगे और भविष्य में भी उनके परिवार का ख्याल रखेंगे।
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘स्वर्गीय राजेश कुमार जी भारतीय वायु सेना में कार्यरत थे। वह देश की सेवा करते हुए एक विमान दुर्घटना में शहीद हो गए थे। आज उनके परिवार से मिला और एक करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा। उम्मीद है कि इससे परिवार को मदद मिलेगी। भविष्य में भी स्वर्गीय राजेश कुमार जी के परिवार का ख्याल रखेंगे।’’
इस दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि स्वर्गीय राजेश कुमार दो साल पहले अरूणांचल प्रदेश में तैनात थे और वहां ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी (एयर मेंटेनेंस) के दौरान उनका एयर क्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त होने से वह शहीद हो गए। जैसा कि फौज में तैनात दिल्ली के जो भी लोग शहीद होते हैं, उन लोगों को दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि देती है। आज मैं स्वर्गीय राजेश कुमार के माता-पिता और पत्नी समेत परिवार के सभी सदस्यों से मिला और परिवार को एक करोड़ रुपए की सम्मान राशि का चेक सौंपा है। स्वर्गीय राजेश कुमार के जान की कीमत तो हम नहीं लगा सकते हैं, लेकिन मैं उम्मीद करता हूं कि इससे इनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी। स्वर्गीय राजेश की एक बहन को पहले ही हमने सिविल डिफेंस में शामिल कर लिया है और दूसरी बहन को भी हम उसमें नौकरी देंगे। साथ ही जो भी संभव होगा, वह सब कुछ हम उनके परिवार के लिए करेंगे।
*भारतीय वायु सेना में कुक के पद पर तैना थे स्वर्गीय राजेश कुमार*
स्वर्गीय राजेश कुमार का जन्म पिता शिव राम और माता राज कली से 28 दिसंबर 990 को हुआ था और उनका परिवार दिल्ली के लायंस रोड इलाके में रहता है। उनकी प्रारंभिक पढ़ाई नई दिल्ली के कुशाक रोड स्थित लायंस विद्या मंदिर सेकेंडरी स्कूल से हुई। उन्होंने नोएडा स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग से 10वीं की पढ़ाई पूरी की।
स्वर्गीय राजेश कुमार को 05 फरवरी 2015 को भारतीय वायु सेना में गैर-लड़ाकू (कर्मचारी) ‘कुक’ के पद पर नियुक्त किया गया था। नियुक्ति के बाद उन्हें प्रशिक्षण के लिए कर्नाटक के बेलगांव भेजा गया। उनकी पहली पोस्टिंग राजस्थान के उत्तरली में हुई थी। 29 वर्ष की कम आयु में 03 जून 2019 को वह असामयिक शहीद हो गए, उस समय वे असम के जोरहाट में तैनात थे और अरुणाचल प्रदेश में एलजी-40 मेनचुका के लिए एक ऑपरेशनल ट्रेनिंग सॉर्टी (एयर मेंटेनेंस) पर थे। वह जिस एयर क्राफ्ट में थे, वह अरुणाचल प्रदेश की घाटी में ऊंवाई वाले इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था।
*स्वर्गीय राजेश कुमार के पिता हैं सुरक्षा गार्ड*
स्वर्गीय राजेश कुमार के पिता शिव राम चाणक्यपुरी के नेहरू पार्क में सुरक्षा गार्ड के रूप में कार्यरत हैं, जबकि माता राज कली हाउस वाइफ हैं। शिव राम के और दो बेटे राम संतोष (38 वर्ष) और आठवीं पास राजिंदर (26 वर्ष) हैं। दोनों ही रेसकोर्स क्लब में नौकरी करते थे, लेकिन लॉकडाउन के कारण दोनों ही करीब दो साल से बेरोजगार हैं और वर्तमान में जब भी उन्हें कोई काम मिलता है, तो वे दैनिक वेतन भोगी के रूप में करते हैं। इसके अलावा, स्वर्गीय राजेश कुमार की दो बहनें भी हैं। जिसमें 23 वर्षीया लक्ष्मी 10वीं कक्षा पास हैं और वर्तमान में बेरोजगार हैं, जबकि दूसरी बहन 22 वर्षीया मीनू 12वीं पास हैं और वर्तमान में दिल्ली सिविल डिफेंस में सीडीवी के रूप में कार्यरत हैं।
स्वर्गीय राजेश कुमार का विवाह 30 अक्टूबर 2018 को प्रीति के साथ हुआ था और उनके निधन के बाद प्रीति अपने माता-पिता के साथ अंसारी नगर, नई दिल्ली में रह रही हैं और उन्हें 04 अक्टूबर 2019 को एक पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई। उनकी पत्नी प्रीति 12वीं पास हैं।
Nature Nature