Nature Nature

*जिस तरह भगवान राम ने रावण का वध किया था, उसी तरह हम सबको मिलकर रावण रुपी कोरोना महामारी एवं देश-समाज में फैली बुराईयों का अंत करना है – अरविंद केजरीवाल

0 7
इस न्यूज़ को सुनने के लिए क्लिक करे
रावण वध अधर्म पर धर्म की जीत का प्रतीक है, जब-जब अधर्म बढ़ता है, भगवान अपने तरीके से उसक नाश जरूर करते हैं-अरविंद केजरीवाल
 यह मैदान लोगों की भीड़ से खचाखच भरा होता था, लेकिन आज कोरोना की वजह से काफी कम लोग आए हैं- अरविंद केजरीवाल
 भगवान श्रीराम से प्रार्थना करता हूं कि हमारे पूरे देश को इस कोरोना रूपी रावण से मुक्ति मिले- अरविंद केजरीवाल
 प्रभु श्रीराम सभी को स्वस्थ्य रखें, सभी बीमारियों को नाश करें, सभी के घर में खूब बरकत हो और खूब खुशियां दें- अरविंद केजरीवाल
 मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाद के प्रतिक पुलते पर तीर चलाकर उनका दहन किया
 मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लव-कुश रामलीला कमेटी की तरफ से आयोजित रावण दहन समारोह में शामिल हुए
नई दिल्ली, 15 अक्टूबर, 2021
मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल आज विजयादशमी के महापर्व पर चांदनी चौक स्थित लालकिला के पास लव-कुश रामलीला कमेटी की तरफ से आयोजित रावण दहन समारोह में शामिल हुए। इस दौरान सीएम अरविंद केजरीवाल ने रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाद के प्रतिक पुलते पर तीर चलाकर उनका दहन किया और प्रभु श्रीराम की आरती में भी शामिल हुए। मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि प्रभु श्रीरामचंद्र जी ने किसी व्यक्ति विशेष का वध नहीं किया, बल्कि यह अधर्म पर धर्म की जीत है। यह मैदान लोगों की भीड़ से खचाखच भरा होता था, लेकिन आज कोरोना की वजह से काफी कम लोग आए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भगवान श्रीराम से प्रार्थना करते हुए कहा कि हमारे पूरे देश को इस कोरोना रूपी रावण से मुक्ति मिले। प्रभु श्रीराम सभी को स्वस्थ्य रखें, सभी बीमारियों को नाश करें, सभी के घर में खूब बरकत हो और भगवान सभी को खूब खुशियां दें।

मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल आज लव-कुश रामलीला कमेटी की तरफ से आयोजित रावण दहन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए। लव-कुश रामलीला कमेटी के सदस्यों ने समारोह में शामिल होने पहुंचे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को झूले की मदद से स्टेज पर लाया गया। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने समारोह में आधे घंटे से अधिक समय तक बैठ कर रामलीला मंचन को देखा। इस दौरान भगवान प्रभु श्रीराम, लक्ष्मण और हनुमान जी की आरती हुई, जिसमें मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी शामिल हुए।

 इस दौरान लव-कुश रामलीला कमेटी के सदस्यों की तरफ से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सम्मानित किया गया। कमेटी के सदस्यों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को शॉल ओढ़ाई और पटका व पगड़ी पहनाई। इस दौरान कमेटी के सदस्यों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को राम दरबार, एक तलवार और एक गदा भी सप्रेम भेंट किया गया। रामलीला कमेटी ने रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाद का प्रतिक के रूप में 30 फीट उंचा पुतला बनाया था। दिल्ली में प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए पुलते में पटाखों का इस्तेमाल नहीं किया गया था, ताकि वायु प्रदूषण न हो सके। अंत में, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाद के प्रतिक रूपी पुलते पर तीर चलाकर उनका दहन किया।

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने दशहरे के अवसर पर अधर्म के उपर धर्म की जीत के अवसर पर सभी देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अभी-अभी हम सब लोगों ने रामलीला देखी कि किस तरह से रावण का प्रभु श्रीरामचंद्र जी ने वध किया। वो किसी व्यक्ति विशेष वध नहीं है। वह एक तरह से अधर्म के उपर धर्म की जीत है और अधर्म का नाश है। जैसा कि हम लोगों ने गीता में भी पढ़ा है कि जब-जब अधर्म बढ़ जाता है, तब-तब भगवान अपने तरीके से उस अधर्म का नाश करते हैं। मैं हर साल लव-कुश रामलीला में आता हूं और यह पूरा मैदान लोगों की भीड़ से खचाखच भरा होता है। लेकिन आज कोरोना की वजह से काफी कम लोग हैं। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग करनी पड़ रही है। मैं इस मौके पर भगवान श्रीराम से प्रार्थना करता हूं कि हमारे पूरे देश को इस कोरोना रूपी रावण से मुक्ति मिले। इस बीमारी को झेलते हुए डेढ़ दो साल हो गए। आज हम सब लोग मिलकर अगर प्रार्थना करेंगे, तो सामूहिक प्रार्थना का बहुत बड़ा असर होता है। मैं उम्मीद करता हूं कि इस करोना रूपी रावण से हम सबको मुक्ति मिलेगी। भगवान से प्रार्थना करता हूं कि आप सब लोगों के घर में सब लोग स्वस्थ्य रहें और बीमारियों को नाश हो। आप सब के घर में खूब बरकत हो और आप सब के घर में भगवान खूब खुशियां दें।
Nature Nature